Thursday, January 27, 2022
spot_img

छठ पूजा छठ पूजा में नाक तक लंबा सिंदूर क्‍यों लगाती हैं व्रती महिलाएं?

संतान की लंबी आयु के लिए किया जाना वाला छठ पर्व देश-दुनिया में मनाया जा रहा है. इस पर्व में आपने व्रत रखने वाली महिलाओं को माथे तक लंबा सिंदूर (Sindoor) लगाए देखा होगा. बहुत कम लोगों को पता होगा कि वे ऐसा क्यों करती हैं.

सौभाग्य का प्रतीक होता है सिंदूर

धार्मिक मान्यताओं के मुताबिक मांग में सिंदूर (Sindoor) भरने को सौभाग्य का प्रतीक माना जाता है. छठ पूजा में भी महिलाएं सिंदूर लगाती हैं. कहा जाता है कि विवाहित महिलाओं को सिंदूर लंबा और ऐसा लगाना चाहिए जो सभी को दिखे. ये सिंदूर माथे से शुरू होकर जितनी लंबी मांग हो, वहां तक लगाना चाहिए. यही कारण है कि व्रत रखने वाली महिलाएं इस पर्व में नाक से लेकर सिर की मांग तक लंबा सिंदूर लगाती हैं.

संतान-सुहाग की लंबी उम्र की कामना

छठ पूजा (Chhath Puja 2021) में संतान के अलावा सुहाग की लंबी उम्र की भी कामना की जाती है. यही वजह है कि इस पर्व में विधि विधान से पूजा के साथ ही सिंदूर (Sindoor) का भी काफी महत्व माना गया है. अपने सुहाग और संतान की मंगल कामना के लिए महिलाएं 36 घंटों का निर्जला व्रत रखती हैं.

गुरुवार को संपन्न हो जाएगा पर्व

छठ पूजा का गुरुवार को चौथा और अंतिम दिन है. गुरुवार सुबह सभी व्रती ठंडे पानी में खड़े होकर उगते हुए सूर्य (Surya Dev) को अर्घ्य देंगे. यह अर्घ्य सूर्य की पत्नी उषा को दिया जाता है. मान्यता है कि विधि विधान से पूजा करने और अर्घ्य देने से सभी तरह की मनोकामना पूर्ण होती हैं. इस दौरान परिवार के सभी लोग घाट के किनारे मौजूद रहते हैं. व्रत के बाद सभी लोग एक-दूसरे को प्रसाद देकर बड़े बुजुर्गों का आशीर्वाद लेते हैं. इसके साथ ही 36 घंटे तक चलने वाला यह कठोर निर्जला व्रत (Chhath Puja 2021) संपन्न हो जाता है. 

(नोट: इस लेख में दी गई सूचनाएं सामान्य जानकारी और मान्यताओं पर आधारित हैं.  Zee News इनकी पुष्टि नहीं करता है.)

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,143FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles