Lockdown के विरोध में सड़क पर उतरे व्यापारी.

विनय सिंह- मुंबई समेत महाराष्ट्र के कई शहरों में कोरोना के मामले बहुत तेज रफ्तार से बढ़ रहे हैं। जिसकी वजह से प्रशासन की चिंता काफी ज्यादा बढ़ चुकी है। तमाम कोशिशों के बावजूद कोरोना की दूसरी लहर नियंत्रण में नहीं आ रही है। ऐसे में सरकार ने पूरे राज्य के अंदर नाइट कर्फ्यू लगाया हुआ है। बावजूद इसके कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं। राज्य सरकार ने तमाम जनता से कोरोना के सभी नियमों का पालन करने की अपील की थी। ताकि लॉकडाउन लगाने की नौबत ना आए। हालाकी सड़कों पर लोगों की लापरवाहियां खुलेआम दिखाई पड़ रही हैं।
ऐसे में लॉकडाउन लगाने की आशंका बढ़ती ही जा रही है इस संभावित लॉकडाउन को देखते हुए छोटे व्यापारियों की मुश्किलें बढ़ती हुई नजर आ रही हैं। आज मुंबई के छोटे व्यापारियों ने ओशिवारा इलाके में इकट्ठा होकर संभावित लॉकडाउन के खिलाफ़ विरोध दर्ज कराया और सरकार से लॉकडाउन ना लगाने की अपील की है। उनका कहना है कि लॉकडाउन लगने से उद्योग-धंधे और दुकानें सब कुछ बंद हो जाएगा और व्यापार पूरी तरह से बर्बाद हो जाएगा।

इस वजह से तमाम लोगों की रोजी-रोटी पर विपरीत प्रभाव पड़ेगा और कई लोग बेरोजगार हो जाएंगे। इस तरह के मुश्किल भरे हालात पिछले साल लोगों ने झेले हैं। ऐसे में इस बार सरकार लॉक लगाने के बारे में बिल्कुल भी ना सोचे। प्रदर्शन के दौरान कांग्रेस के वरिष्ठ नेता संजय निरुपम व्यापारियों के साथ मौजूद थे।