Monday, January 17, 2022
spot_img

यह दिन अल्लाह से गुनाहों कि माफी मांगने का है, बेजुबान जानवरों की बलि देने का नही-शहज़ादे कुरैशी उपाध्यक्ष राष्ट्रीय सुरक्षा जागरण मंच

प्रसिद्द समाजसेवी शहज़ादे कुरैशी

अपने विवादित बयानों से अक्सर सुर्खियों में बने रहने वाले समाज सेवी एवं राष्ट्रीय सुरक्षा जागरण मंच लखनऊ के उपाध्यक्ष शहज़ादे कुरैशी ने मुसलमानों के दूसरे सबसे बड़े पर्व ईद-उल-अजहा पर ऐतराज़ जताया है. शहज़ादे कुरैशी जारी कर कहा कि बकरीद के नाम पर करोड़ों जानवरों की कुर्बानी देना एक गुनाह है. कुरैशी ने कहा है कि यह दिन अल्लाह से अपने गुनाहों कि माफी मांगने का है न कि बेजुबान जानवर की बलि देकर ईद मनाने का.

समाज सेवी एवं राष्ट्रीय सुरक्षा जागरण मंच लखनऊ के उपाध्यक्ष शहज़ादे कुरैशी कभी कुरान तो कभी मदरसों को लेकर वह टिप्पणी करते रहे हैं. शहज़ादे कुरैशी ने मुसलमानों के त्योहार ईद-उल-अजहा यानी कि बकरीद पर ऐतराज जताया है.शहज़ादे कुरैशी ने कहा कि बकरीद के नाम पर दुनिया में एक साथ करोड़ों जानवरों की बलि देना एक गुनाह है. यही नहीं शहज़ादे कुरैशी ने आगे बोलते हुए कहा कि अल्लाह कि राह में हजरत इब्राहिम अपने बेटे हजरत इस्माइल की कुर्बानी देने में हिचकिचाएं थे, इसलिए अल्लाह ने उनकी कुर्बानी नहीं कुबूल की थी. इस दिन एक रसूल अल्लाह की राह में नाकामयाब हुए थे. इसलिए यह दिन अल्लाह से अपने गुनाहों कि माफी मांगने का है न कि बेजुबान जानवर की बलि देकर ईद मनाने का.

अभी हाल ही में उत्तर प्रदेश में जनसंख्या नियंत्रण को लेकर चल रही बहस के बीच समाज सेवी एवं राष्ट्रीय सुरक्षा जागरण मंच लखनऊ के उपाध्यक्ष शहज़ादे कुरैशी राज्य विधि आयोग के मसौदे का समर्थन किया. जब भी इस पर कानून को बनाए जाने की बात होती है तो मुसलमानों के नाम पर राजनीति करने वाली कुछ सियासी पार्टियां आड़े आती हैं. रिजवी ने कहा कि हिंदुस्तान सब धर्मों का है और देश की तरक्की के लिए सभी धर्मों को इन बातों पर अमल करना होगा. प्रसिद्द समाजसेवी शहज़ादे कुरैशी बोले कि सिर्फ सुविधाओं से वंचित करने से काम नहीं चलेगा. इस कानून में सजा का भी प्रावधान होना चाहिए. कानून बनाया जाना और उसको लागू करना हिंदुस्तान के मुसलमानों के लिए बेहद जरूरी है.

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,117FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles