कोरोना टेस्ट के लिए अस्पताल जाने की आवश्यकता नहीं है, टेस्ट मोहल्ले मे ही कर दी जाएगी-जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा

जौनपुर 18 मई 2021
      प्रमुख सचिव, दुग्ध विकास, मत्स्य, समन्वयक एवं पशुधन विभाग उ.प्र.शासन/नोडल अधिकारी (कोविड-19) जौनपुर भुवनेश कुमार द्वारा मोहल्ला चाचकपुर में निरीक्षण कर  आर.आर.टी के द्वारा किए जा रहे कार्यों की जानकारी प्राप्त की गयी। निरीक्षण के दौरान उन्होंने निगरानी समिति से कोरोना किट के वितरण एवं कोरोना टेस्टिंग के बारे जानकरी प्राप्त की। नोडल अधिकारी ने निगरानी समिति से कहा कि बाहर से आए प्रवासियों की चिन्हित कर उनका कोरोना टेस्ट कराये तथा लक्षणयुक्त को कोरोना किट का वितरण भी करे। उन्होंने निर्देशित किया कि प्रवासियों को क्वॉरेंटाइन सेंटर में रखा जाए और क्वारंटाइन के प्रोटोकॉल का पूरी तरीके से पालन किया जाए। निगरानी समिति द्वारा बताया गया कि 10 प्रवासी मोहल्ले में आए हैं, जिनकी जांच करा दी गई है। कोरोना किट का भी वितरण किया जा रहा है। नोडल अधिकारी द्वारा निर्देश दिया गया कि लक्षणयुक्त वालों को तत्काल दवा दे दी जाए जिससे उन्हें अस्पताल जाने की जरूरत न आए। अधि. अधिकारी नगरपालिका संतोष मिश्रा को निर्देशित किया कि मोहल्लो में सैनिटाइजेशन एवं साफ-सफाई का कार्य नियमित रूप से कराया जाए।

जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा द्वारा मोहल्ले के लोगों से अपील की गई कि बुखार, सर्दी, खांसी जैसे लक्षण आते हैं तो तुरंत आगनबाड़ी, आशा एवं निगरानी समिति से संपर्क किया जाए, उन्होंने कहा कि कोरोना टेस्ट के लिए अस्पताल जाने की आवश्यकता नहीं है, टेस्ट मोहल्ले मे ही कर दी जाएगी। कोरोना के लक्षण आने पर कोरोना किट को  लेकर उपचार शुरू कर दें और किसी प्रकार की समस्या हो तो कंट्रोल रूम से संपर्क करे।          इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी अनुपम शुक्ला, अपर जिलाधिकारी भू राजस्व राजकुमार द्विवेदी सहित अन्य अधिकारियों कर्मचारियों उपस्थित रहे।