Saturday, October 1, 2022
spot_img

बुद्ध के मार्ग पर ही मिलेगा मिलेगा मुक्ति का मार्ग

बुद्ध के मार्ग पर ही मिलेगा मिलेगा मुक्ति का मार्ग
विश्व संवाद केंद्र में ‘भगवान बुद्ध और उनका धम्म’ में बोले वक्ता
 
       Displaying IMG_20170509_174453_HDR.jpgलखनऊ,ब्यूरो । भारत में मानवता और विश्व कल्याण के लिए दुनिया को बुद्ध का मार्ग दिखाया है। हिंसा, प्रतिहिंसा से किसी भी समस्या का निदान संभव नहीं है। विश्व इस समय तृतीय विश्व युद्ध के मुहाने पर खड़ा है। ऐसे में समय की मांग है कि बुद्ध को अंगीकार कर प्राणिमात्र के सुरक्षित किया जाए। उक्त बातें उत्तर प्रदेश इंजीनियर एसोसिएशन के अध्यक्ष रहे राजेंद्र मोहन सक्सेना ने भगवान बुद्ध जयंती की पूर्व संध्या पर कहीं। Image may contain: 3 people, people standing and indoorवह जियामऊ स्थित अधीश समृति सभागार में सामाजिक समरसता विभाग एवं भारतीय विचार केंद्र अवध प्रांत के ओर से आयोजित भगवान बुद्ध और उनका धम्म विषयक संगोष्ठी में बोल रहे थे।
उन्होंने कहा कि बुद्ध का धम्म कहता है कि प्राणिमात्र के कल्याण के बग़ैर हमारी सारी पूजा और कर्मकांड व्यर्थ हैं। मन, वचन और कर्म से भी किसी के प्रति बैर भाव रहित हो जाना ही असली धम्म है। बुद्ध कहते हैं कि समरस समाज बनाए बिना वास्तविक धर्म की कल्पना भी नहीं की जा सकती।
 
     मुख्य अतिथि रहे राष्ट्रधर्म प्रकाशन के निदेशक सुरेश चन्द्र द्विवेदी ने कहा कि दीनदयाल के अंत्योदय, विनोबा के सर्वोदय और गांधी के ग्रामोदय से पहले का चिंतन बुद्ध का है। उन्होंने बहुत पहले ही जीव मात्र के कल्याण को धर्म का मूलमंत्र माना था। सामाजिक समरसता विभाग के प्रांतीय संयोजक राजेंद्र ने भगवान बुद्ध के जीवन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि वह जन्मजात करुणा, दया और अहिंसा की प्रतिमूर्ति रहे। उनका सम्पूर्ण जीवन सत्य की खोज और मानव कल्याण के लिए विविध प्रकार से उपदेश देने में बीता। बुद्ध ने पंचशील का सिद्धांत दिया जिसमें हिंसा न करना, चोरी न करना, असत्य न बोलना, व्यभिचार न करना तथा मदिरा सेवन न करनाशामिल है। संगोष्ठी का संचालन भारत रक्षा मंच के संयोजक एवं वरिष्ठ पत्रकार अरुण कुमार सिंह ने किया। वहीं, सामाजिक समरसता विभाग के सह संयोजक डॉ दुर्गेश ने अतिथियों का आभार जताया।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,505FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles