Thursday, September 29, 2022
spot_img

SCO Summit: दो दिन के उज्बेकिस्तान दौरे पर PM मोदी पहुंचे समरकंद, पुतिन के साथ होगी द्विपक्षीय बैठक

उज्बेकिस्तान की अध्यक्षता हो रहे SCO मसिट में भाग लेने पीएम मोदी समरकंद पहुंच गए हैं। शुक्रवार 16 सितंबर को भारतीय समयनुसार सुबह 10 बजे के बाद एससीओ सदस्य देशों के प्रमुखों की बैठक होगी।

  • पीएम मोदी 15-16 सितंबर को समरकंद में होंगे
  • SCO समिट में भाग लेने मोदी उज्बेकिस्तान पहुंचे
  • दुनिया के शीर्ष नेताओं से कर सकते हैं मुलाकात

SCO Summit: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शंघाई शिखर सम्मेलन (SCO) में भाग लेने के लिए गुरुवार को उज्बेक शहर समरकंद पहुंच चुके हैं। रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन, चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग और ईरानी राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी सहित अन्य नेता भी SCO के वार्षिक शिखर सम्मेलन में शामिल होंगे। प्रधानमंत्री मोदी उज्बेकिस्तान के राष्ट्रपति शावकत मिर्जियोयेव के निमंत्रण पर वहां का दौरा कर रहे हैं। उज्बेकिस्तान एससीओ का मौजूदा अध्यक्ष है।

प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट किया, “एससीओ शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए समरकंद, उज्बेकिस्तान रवाना हो रहा हूं, जहां विभिन्न क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर विचारों का आदान-प्रदान होगा।” विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने प्रधानमंत्री के विमान में सवार होने की एक तस्वीर पोस्ट करते हुए ट्वीट किया कि यह शिखर सम्मेलन एससीओ की गतिविधियों की समीक्षा करने एवं भविष्य में सहयोग की संभावनाओं पर चर्चा करने का एक अवसर मुहैया कराएगा। बागची ने कहा, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शंघाई सहयोग संगठन के राष्ट्राध्यक्षों की परिषद की 22वीं बैठक में भाग लेने के लिए समरकंद, उज्बेकिस्तान रवाना हुए।”

SCO सम्मेलन में अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर बातचीत के लिए उत्सुक’

समरकंद रवाना होने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बयान में कहा कि वह समूह के अंदर मौजूदा मुद्दों, विस्तार और सहयोग को आगे बढ़ाने के बारे में विचारों के आदान-प्रदान को लेकर उत्सुक हैं। मोदी ने कहा, “एससीओ शिखर सम्मेलन में, मैं मौजूदा, क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय मुद्दों, एससीओ के विस्तार एवं संगठन के भीतर बहुआयामी तथा परस्पर लाभकारी सहयोग को और गहरा करने के लिए विचारों के आदान-प्रदान को लेकर उत्सुक हूं।” उन्होंने कहा, “उज्बेक अध्यक्षता में व्यापार, अर्थव्यवस्था, संस्कृति और पर्यटन के क्षेत्रों में परस्पर सहयोग के लिए कई निर्णय लिए जाने की उम्मीद है।’’ प्रधानमंत्री ने कहा कि वह राष्ट्रपति मिर्जियोयेव से मिलने को भी उत्सुक हैं।

उन्होंने कहा, “मुझे 2018 की उनकी भारत यात्रा याद है। उन्होंने 2019 में वाइब्रेंट गुजरात सम्मेलन में विशेष अतिथि के रूप में भी भाग लिया था। इसके अलावा, मैं शिखर सम्मेलन में शामिल होने वाले कुछ अन्य नेताओं के साथ द्विपक्षीय बैठकें करूंगा।”

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
3,505FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles