Monday, January 17, 2022
spot_img

धार्मिक मामले अदालतों में नहीं धर्मावलम्बियों के बीच तय होते है -सैयद फैजी

सैयद फ़ैज़ी को मला पहनाकर स्वागत करते राष्ट्रीय सुरक्षा जागरण मंच के लखनऊ चैपटर के उपाध्यक्ष शहज़ादे कुरैशी

लखनऊ(अस्मा खान) धार्मिक मामले अदालतों में नहीं धर्मावलम्बियों के बीच तय होते है! चाहे वह कुरआन की आयतो का मामला हो या अधिकारों का!
कुरान की आयतो का गलत अर्थ निकाला जा रहा है !गीता महा भारत ,रामायण ,हद्दीष ,शरीयत यह बदलीi जानेवाली किताबे/ग्रन्थ नहीं है और इनमे कहि कोई त्रुटि है भले ही वह ब्याख्या करने में हो तो हमारे धार्म्मवल्बी मौलाना इसको तय करेंगे की इस पर क्या करना है !धर्माचार्य तय करेंगे !ऐसे मामले अदालते तय नहीं करती !उक्त बाते यूपी जागरण डॉटकॉम से वक़्फ़ बोर्ड के सदस्य पद पर चुनाव जीतने के बाद सैयद फैजी ने कही !कोई भी धर्म मानवता के विरुद्ध हो ही नहीं सकता और जो मानवता के विरुद्ध है वह धर्म हो ही नहीं सकता ! ज्ञात हो की वक़्फ़ सदस्य के चुनाव में वस्सं रिज़वी और सैयद फ़ैज़ी को बराबर बराबर मत मिले है और दोनों विजई घोषित हुए है इन्ही दोनों में से किसी को सरकार वक़्फ़ का अध्यक्ष घोषित करेगी !चूँकि वसीम रिज़वी के खिलाफ सीबीआई जाँच चल रही है इस परिपुक्षय में सैयद फ़ैज़ी को वक़्फ़ बोर्ड का अध्यक्ष तय मन जा रहा है

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,117FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles