Saturday, October 1, 2022
spot_img

घर पर हुए हमले को लेकर सांसद मनोज तिवारी और दिल्ली पुलिस आमने-सामने

नई दिल्ली
बीजेपी सांसद और दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी के घर पर हुए हमले को लेकर दिल्ली पुलिस और मनोज तिवारी आमने-सामने आ गए हैं। पुलिस जहां इसे मामूली रोडरेज का मामला बता रही है, वहीं तिवारी का दावा है कि हमलावर हाथ में रॉड लिए हुए थे और उन्होंने उनके बेडरूम तक घुसने की कोशिश की। सांसद का दावा है कि हमला करने वाले लोग पूरी तैयारी से आए थे और उन्हें तलाश रहे थे। कुछ अन्य बीजेपी नेताओं ने भी पुलिस पर आरोपियों को बचाने का आरोप लगाया है। ऐसे में सवाल खड़ा हो गया है कि कौन सच बोल रहा है और कौन झूठ?
  Image result for MP Manoj Tiwari and Delhi Police face attack on home       मामले की जांच में जुटी पुलिस ने बताया कि हमला सांसद मनोज तिवारी पर नहीं किया गया बल्कि यह रोडरेज का मामला है। डीसीपी (नई दिल्ली) बीके सिंह ने कहा कि घटना के समय सांसद घर पर नहीं थे। उनके ड्राइवर की कार सरकारी आवास से कुछ दूरी पर एक दूसरी कार से टकराई।
      उसमें भी सांसद नहीं थे। वहां उनके ड्राइवर का दूसरी कार में सवार लोगों से झगड़ा हुआ। डीसीपी ने बताया,’आरोपी भी उसी इलाके के रहने वाले हैं। उन्होंने अपने साथियों को बुला लिया और सांसद के आवास में घुसकर ड्राइवर से मारपीट की। उस दौरान जो लोग बीच-बचाव के लिए आए, उनसे भी मारपीट की गई। घायलों को मामूली चोटें आई हैं। मेडिकल रिपोर्ट के अनुसार केस दर्ज करके आरोपियों को अरेस्ट कर लिया है।’

      उधर सांसद मनोज तिवारी ने पुलिस के बयान को नकारते हुए दावा किया है कि हमलावर हाथ में रॉड लेकर आए थे। उन्होंने कहा, ‘घर में घुसकर उन लोगों ने दोनों लड़कों को मारने की और मुझे तलाशने की कोशिश की। वे पांच-छह लोग घर में घुसकर मेरे बेडरूम तक जाने की कोशिश कर रहे थे। मैं घर पर था नहीं। मैंने पुलिस को सूचना दी। पुलिस के आने के बाद कुछ लोग भाग गए और चार लोग गिरफ्तार कर लिए गए। इसके बाद FIR हुई और बच्चों को मेडिकल भी हुआ।’

      तिवारी ने आगे कहा, ‘कुछ लोग बता रहे हैं कि हमारी गाड़ी टकराई थी, पर मुझे यह नहीं पता। मुझे नहीं पता वो लोग कौन हैं, लेकिन घर में घुसना और मारना पीटना गंभीर मामला है। पुलिस अपना काम कर रही है और मुझे पुलिस पर पूरा भरोसा है। सीसीटीवी फुटेज में दिख रहा है कि वे लोग ट्रक से आए। उनकी काफी तैयारी थी।’


      सासंद के बयान के बाद दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी हरकत में आए हैं। स्पेशल सीपी एमके मीणा ने भी अब स्वीकार किया है कि यह सिर्फ रोडरेज का मामला नहीं है। उन्होंने कहा, ‘यह साधारण रोडरेज का साधारण मामला नहीं लगता। कुछ लोग पकड़े गए हैं, हम मामले को गंभीरता से ले रहे हैं।’

      इसके पहले दिल्ली बीजेपी के महामंत्री राजेश भाटिया ने पुलिस पर आरोपियों को बचाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा, ‘ऐसा लगता है कि पुलिस आरोपियों को बचा रही है, क्या हमलावर को यह नहीं पता था कि वह जिस घर पर हमला करने जा रहा है, वह सांसद आवास है…क्या सांसद आवास पर हमला मामूली बात है, पुलिस अपनी जिम्मेदारी से पीछे हट रही है।’MP Manoj Tiwari and Delhi Police face attack on home

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,505FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles