Monday, January 17, 2022
spot_img

जौनपुर में पुलिस के साथ मारपीट में दो ग्राम प्रधान समेत आठ पर एफआइआर

चन्दवक पुलिस को सूचना मिली की बुधवार रात करीब डेढ़ बजे भगतौली में लूट हो गई है। डायल-112 को सूचना देने वाला अभिषेक शराब के नशे में था। पूछताछ में सूचना फर्जी निकली। आरोप है कि इसी दौरान अभिषेक ने एक पुलिसकर्मी पर हाथ चला दिया।

जौनपुर, संवाददाता। कथित तौर पर लूट की झूठी सूचना देने पर हिरासत में लिए गए युवक को छुड़ाने के लिए बुधवार की आधी रात थाने पहुंचे लोगों ने गेट पर पुलिसकर्मियों से हाथापाई कर ली। मारपीट में एक सिपाही जख्मी हो गया। पुलिस ने पांच को मौके पर दबोच लिया। घायल सिपाही की तहरीर पर दो ग्राम प्रधानों समेत आठ आरोपितों के विरुद्ध विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। प्रधानों समेत तीन फरार आरोपितों की तलाश में पुलिस संभावित स्थानों पर दबिश दे रही है।

शांति व्यवस्था बनाए रखने को बड़वा, भगतौली व बलरामपुर में पुलिस व पीएसी के जवान तैनात किए गए हैं।भगतौली गांव निवासी अनुसूचित जाति के अभिषेक कुमार पुत्र जियालाल ने पुलिस को सूचना दी कि उसके 20 हजार रुपये लूट लिए गए हैं। मौके पर थाने की पीआरवी-112 की टीम पहुंची तो अभिषेक नशे की हालत में मिला। आरंभिक छानबीन में घटना संदिग्ध लगने पर पुलिस अभिषेक को लेकर मेडिकल मुआयना कराने के बाद थाने लाई। थाने के गेट पर उसी समय जियालाल पड़रछा (बड़वा) गांव के प्रधान राकेश सिंह ‘गुड्डू’ व बलरामपुर गांव के प्रधान सुभाष यादव आदि पहुंच गए। आरोप है कि अभिषेक के स्वजन पिटाई करने का आरोप लगाते हुए पुलिसकर्मियों से हाथापाई करने लगे। सिपाही चंदन के जख्मी होने से अफरा-तफरी मच गई। प्रभारी थानाध्यक्ष शिव प्रसाद पांडेय, बजरंग नगर पुलिस चौकी प्रभारी जितेंद्र सिंह, पतरहीं चौकी त्रिवेणी सिंह व केराकत कोतवाली प्रभारी निरीक्षक त्रिवेणी लाल सेन मय फोर्स पहुंचे व पांच को मौके से दबोच लिया। अन्य फरार हो गए।

चंदन की तहरीर पर जियालाल, उसके बेटों अभिषेक कुमार, आदिल कुमार, दोनों प्रधानों राकेश सिंह व सुभाष यादव, नीरज सिंह निवासी पड़रछा के अलावा विशाल चौधरी निवासी गांव बहुरा व दिलीप कुमार निवासी ग्राम नेवादा थाना खानपुर जिला गाजीपुर के विरुद्ध विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है। प्रधान ने कहा, पुलिस ने खुन्नस निकालने को किया आरोपित पड़रछा (बड़वा) गांव के प्रधान राकेश सिंह ‘गुड्डू’ का कहना है कि जनप्रतिनिधि होने के नाते घटना की जानकारी होने पर वह अपने मित्र ग्राम प्रधान सुभाष यादव को लेकर थाने गए थे। अभिषेक का होंठ कटने के कारण मुंह से खून निकलता देख उसके स्वजन आपा खोकर पुलिसकर्मियों से उलझ गए। हम दोनों ने बीचबचाव किया, लेकिन पुलिस ने अपने बर्बरतापूर्ण कृत्य को छिपाने व व्यक्तिगत खुन्नस में हम लोगों के विरुद्ध भी मुकदमा दर्ज कर दिया।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,117FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles