Wednesday, July 6, 2022
spot_img

देश शरिया से नहीं संविधान से चलेगा-सीएम योगी आदित्यनाथ

अलीगढ़: हिजाब विवाद (Hijab Controversy) को लेकर बहस देश के कई शहरों में शुरू हो गई है. इस बीच यूपी (UP) के अलीगढ़ (Aligarh) में समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) की नेता और महानगर अध्यक्ष रुबीना खानम (Rubina Khanam) ने कर्नाटक (Karnataka) के हिजाब मामले पर विवादित बयान दिया है. रुबीना खानम ने कहा कि हिजाब पर हाथ डालने वालों का हाथ काट देंगे.

समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) की नेता और महानगर अध्यक्ष रुबीना खानम

सपा नेता ने हिजाब विवाद पर क्या कहा?

सपा (SP) नेता रुबीना खानम ने कहा कि भारत विविधताओं का देश है. यहां माथे का तिलक हो या पगड़ी, घूंघट हो या हिजाब, यह सब हमारी संस्कृति और परंपराओं का अटूट हिस्सा है. इन पर राजनीति करके विवाद खड़ा करना नीचता की पराकाष्ठा है. महिलाओं को कमजोर समझने की भूल न करो. सरकार चाहे किसी भी पार्टी की हो. अगर बहन-बेटियों के आत्म सम्मान पर हाथ डालेंगे तो हम झांसी की रानी और रजिया सुल्तान बनकर उनके हाथ काट डालेंगे.

हिजाब विवाद पर सीएम योगी की नसीहत

वहीं सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में कहा कि देश शरिया से नहीं संविधान से चलेगा. हर संस्था को अपना ड्रेस कोड तैयार करने का अधिकार है. संविधान के अनुरूप ही व्यवस्था चलेगी.

कैसे शुरू हुआ हिजाब विवाद?

जान लें कि हिजाब विवाद की शुरुआत कर्नाटक (Karnataka) के उडुपी (Udupi) से हुई. यहां हिजाब पहने हुई छात्राओं की क्लास में एंट्री का कुछ स्टूडेंट्स ने विरोध किया और वो भगवा गमछा पहनकर कॉलेज आने लगे. बाद में ऐसा ही उडुपी के कई स्कूल-कॉलेजों में हुआ.

वहीं हिजाब विवाद पर मुस्लिम छात्राओं का कहना है कि हिजाब उनके धर्म का हिस्सा है. संविधान अपने धर्म का पालन करने की अनुमति देता है. अभी हिजाब विवाद पर कर्नाटक हाई कोर्ट में सुनवाई चल रही है.

Related Articles

Stay Connected

0FansLike
3,381FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles