दिवाली पर अयोध्या के बाद अब 19 को काशी में दिखेगी देव दीपावली की भव्यता: CM योगी आदित्यनाथ

मथुरा: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को वृंदावन में कुंभ स्थल पर ब्रज रज महोत्सव का शुभारंभ किया. पवनहंस हेलीपैड पर उतरने के बाद वह सीधे पर्यटन सुविधा केंद्र पहुंचे. यहां संतों के साथ समागम करने के बाद मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन की शुरुआत ‘राधे रानी, यमुना महारानी’ और ‘सब संतन की जय’ के साथ की. मुख्यमंत्री योगी बोले कि मेरी इच्छा थी जब पावन भूमि पर आऊं तो संतों का सानिध्य मिले. ब्रज रज उत्सव के लिए सांसद हेमा मालिनी ने विजयादशमी पर बुलाया था, लेकिन यह संभव नहीं हो सका. संतों के सानिध्य से कठिन से कठिन चुनौती महोत्सव में बदलती है. 

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने कुंभ पूर्व वैष्णव बैठक की थी. हमारे कार्यक्रम पर बिहारी लाल की कृपा हुई, सबकुछ सकुशल संपन्न हुआ. उस दौरान कोई कोरोना का संकट नहीं रहा. जय श्री राम के जयकारे के साथ उन्होंने अपना संबोधन समाप्त किया. संत-महं

तों के साथ सामूहिक भाेजन के लिए जब सीएम बैठे तो माहौल गुरु शिष्य परंपरा को दर्शा रहा था. उन्होंने कहा कि ब्रज क्षेत्र की रज हम सबके लिये पावन है. हमने इस धरती के महात्म्य को रसखान के मुख से सुना है. ब्रज के विकास के लिए केंद्र और प्रदेश सरकार प्रतिबद्धता से कार्य कर रही है. दुनिया में इतना प्राचीन इतिहास किसी के पास नहीं है. इसकी पवित्रता को बनाये रखना हम सबका दायित्व है.

ब्रज रज महोत्सव में हुनर हाट का उद्घाटन करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रतिभा जाति धर्म की मोहताज नहीं होती. प्रधानमंत्री के आत्मनिर्भर भारत के सपने को हुनर हाट में आए हस्तशिल्पी साकार कर रहे हैं. यहां कई हुनरमंदों की कला उस काल खंड से भी जुड़ती होगी, जब कृष्ण ने अपनी लीला रची होगी. उस कला का सम्म्मान किया जाना चाहिए. दीपावली पर अयोध्या को सबने देखा होगा, 19 को काशी में देव दीपावली उसी भव्यता के साथ मनाई जाएगी. ब्रज में लठामार होली का आयोजन भव्यता से होता है. इसके बाद मुख्यमंत्री ने मेले का अवलोकन किया और मथुरा में श्री कृष्ण जन्मस्थान पर जाकर पूजन अर्चन किया.