Thursday, January 27, 2022
spot_img

पंचायत चुनाव ड्यूटी में कोविड से निधन पर मिलेगा 30 लाख रु. का मुआवजा-मुख्यमंत्री

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में ड्यूटी के कारण कोरोना से मृत कार्मिकों के आश्रितों को अनुग्रह धनराशि 30 लाख रुपये मिलेगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में सोमवार को हुई कैबिनेट की बैठक में अनुग्रह धनराशि जो 15 लाख रुपये थी, उसे बढ़ाकर 30 लाख रुपये करने के प्रस्ताव को अनुमोदित किया गया। 

  त्रि-स्तरीय पंचायत चुनाव में ड्यूटी कर रहे कर्मचारियों की सुरक्षा के लिए सरकार ने बड़ा निर्णय लिया है। अब कर्मचारियों के निधन होने पर मिलने वाली अनुग्रह राशि को बढ़ा दिया है। अब ड्यूटी में मरने वाले कर्मचारियों के परिजनों को 30 लाख रुपए का मुआवजा मिलेंगे।

अपर मुख्य सचिव मनोज कुमार सिंह ने इस संबंध में शासनादेश मंगलवार को जारी किया। उन्होंने कहा कि अब तक ड्यूटी के दौरान असामयिक दुर्घटना जैसे आतंकवादी हिंसा, असामाजिक तत्वों द्वारा मर्डर, रोड माइन्स, बम ब्लास्ट या हथियारों से आक्रमण में मौत पर कर्मचारियों के घरवारों को अनुग्रह रकम प्रदान की जाती है।

अब नई व्यवस्था में महामारी के कारण होने वाले मृत्यु पर 30 लाख रुपए अनुग्रह राशि दी जाएगी। उन्होंने कहा, ‘इसके लिए जिला अधिकारी सभी प्रत्यक्ष व पारिस्थितिक साक्ष्यों व सभी अभिलेखों के साथ अनुग्रह राशि का स्पष्ट उल्लेख करते हुए अपनी सिफारिश सहित राशि के भुगतान का प्रस्ताव राज्य निर्वाचन आयोग को भेजना होगा।

पंचायत चुनाव में कोरोना संक्रमण के कारण बड़ी संख्या में शिक्षक-कर्मचारियों की मौत होने पर हाई कोर्ट ने सरकार को फटकार लगाई थी। कर्मचारी व शिक्षक संगठनों ने मतगणना के बहिष्कार को एलान भी किया था। सुप्रीम कोर्ट के हस्तक्षेप से मतगणना कार्य संपन्न हो सका था।

नि‌र्वाचन ड्यूटी से 30 दिन के अंदर निधन पर आश्रित इसके लिए होंगे पात्र
ड्यूटी अवधि की जो परिभाषा निर्वाचन आयोग ने तय किया है उसमें कोविड-19 से की वजह से होने वाले इंफेक्शन और इसकी वजह से होने वाली मृत्यु में जो समय लगता है उसका ध्यान नहीं रखा गया है। कैबिनेट ने अनुग्रह राशि की पात्रता के लिए निर्वाचन ड्यटी की तिथि से 30 दिन के अंदर कोविड से होने वाली मृत्यु को इसकी पात्रता में लाने का फैसला लिया है। 

रिपोर्ट निगेटिव होने पर भी कोविड कांप्लिकेशन से मृत्यु भी पात्रता में 
कोविड से मृत्यु के साक्ष्य के रूप में एंटीजन, आरटीपीसीआर की पाजिटिव रिपोर्ट, ब्लड रिपोर्ट तथा सीटी स्कैन में कोविड इंफेक्शन को माना जाएगा। कोविड के कुछ मरीजों की कोविड रिपोर्ट रिपोर्ट निगेटिव आती है और पोस्ट कोविड कांप्लिकेशन से उसकी मृत्यु हो सकती है। इस तरह के मामलों में भी 30 दिन के अंदर मृत्यु होने पर इसका लाभ दिया जा सकता है। कोविड स्टेट एडवाइजरी बोर्ड के अध्यक्ष निदेशक एसजीपीजीआई ने इसकी सहमति दी है। 

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
3,143FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles