Saturday , September 19 2020 [ 8:22 PM ]
Breaking News
Home / अन्य / अकबर नहीं, महाराणा प्रताप थे महान : योगी आद‍ित्‍यनाथ
[object object] अकबर नहीं, महाराणा प्रताप थे महान : योगी आद‍ित्‍यनाथ

अकबर नहीं, महाराणा प्रताप थे महान : योगी आद‍ित्‍यनाथ

   यूपी के सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने मुगल बादशाह अकबर की तुलना में 16वीं सदी के मेवाड़ के राजा महाराणा प्रताप को महान बताया। उन्‍होंने महाराणा प्रताप की बहादुरी को याद किया।

  [object object] अकबर नहीं, महाराणा प्रताप थे महान : योगी आद‍ित्‍यनाथ              300x156  ‘जय श्री राम’ के नारों के बीच उन्‍होंने कहा, ‘मैं (महाराणा प्रताप) अकबर को राजा के तौर पर स्‍वीकार नहीं कर सकता… वह तुर्क है और आगे भी  रहेगा… वह मित्रता की आड़ में हमारे आत्‍म-सम्‍मान को ठेस पहुंचाएगा… हम किसी विदेशी को राजा नहीं मान सकते।’

      लखनऊ,अरुण कुमार सिंह  : यूपी के सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने मुगल बादशाह अकबर और मेवाड़ के शासक महाराणा प्रताप की तुलना करते हुए मेवाड़ के राजा को महान बताया। उन्‍होंने जोर देकर कहा कि अकबर अक्रांता थे और इसलिए महाराणा प्रताप ने उन्‍हें कभी ‘बादशाह’ के तौर पर नहीं माना। उन्‍होंने महाराणा प्रताप की बहादुरी को याद करते हुए उन्‍हें सही मायने में महान बताया।

      योगी महाराणा प्रताप की जयंती के उपलक्ष्‍य में आरएसएस की ओर से गुरुवार को आयोजित कार्यक्रम में बोल रहे थे। उन्‍होंने कहा कि अपनी बहादुरी और जज्‍बे के कारण महाराणा प्राताप अपनी मौत के 500 साल बाद भी प्रासंगिक बने हुए हैं।

       उन्‍होंने अरावली की पहाड़‍ियों में कई साल युद्ध लड़ने के बाद अपना किला वापस हासिल करने की महाराणा प्रताप की अदम्‍य इच्‍छाशक्ति का बखान करते हुए कहा कि वह आज भी महान हैं। उन्‍होंने अकबर को कभी ‘बादशाह’ नहीं माना।

     इस मौके पर आरएसएस पत्रिका ‘अवध प्रहरी’ का विशेष संस्‍करण भी जारी किया गया। 1576 के हल्‍दीघाटी युद्ध का जिक्र करते हुए योगी ने कहा कि यह मायने नहीं रखता कि किसने इसे जीता और कौन इसमें हारा।

    योगी के अनुसार, ‘महत्‍वपूर्ण यह है कि महाराणा प्रताप आत्‍म-सम्‍मान के लिए अरावली की पहाड़ियों में कई साल युद्ध लड़ते रहे और अपना किला वापस जीतने में कामयाब रहे।’

    बकौल योगी, ‘अकबर ने एक बार महाराणा प्राताप से कहा था कि वह उन्‍हें ‘बादशाह’ के तौर पर स्‍वीकार कर लें, जिसके बाद मुगल बादशाह मेवाड़ में कोई हस्‍तक्षेप नहीं करेंगे। लेकिन महराणा प्राताप ने कहा कि वे किसी ‘विधर्मी’ और विदेशी को अपने शासक के रूप में स्‍वीकार नहीं करेंगे।

      यूपी के सीएम के अनुसार, यहां तक कि जयपुर के राजा मान सिंह भी अकबर का संदेश लेकर महाराणा प्रताप के पास पहुंचे थे, लेकिन मेवाड़ के राजा ने इसे सिरे से खारिज करते हुए कहा कि वह अकबर को राजा के तौर पर स्‍वीकार नहीं कर सकते।

 

Not Akbar, Maharana Pratap was great: Yogi Adityanath

About Arun Kumar Singh

Check Also

POK में पाकिस्तान की नई चाल, गिलगित-बाल्टिस्तान को पूर्ण राज्य का दर्जा देकर चुनाव कराने की तैयारी Capture 44 310x165

POK में पाकिस्तान की नई चाल, गिलगित-बाल्टिस्तान को पूर्ण राज्य का दर्जा देकर चुनाव कराने की तैयारी

इस्लामाबाद: इमरान खान सरकार अवैध रूप से कब्जा किए गए गिलगित-बाल्टिस्तान क्षेत्र को देश का …

Leave a Reply

Copyright © 2017, All Right Reversed.