Thursday , September 24 2020 [ 11:52 PM ]
Breaking News
Home / अन्य / महान स्वतंत्रता सेनानी लोकमान्य तिलक का ज्ञान, साहस प्रेरणा का स्रोत:100वीं पुण्यतिथि पर देश ने किया याद, पीएम मोदी ने भी दी श्रद्धांजलि
महान स्वतंत्रता सेनानी लोकमान्य तिलक का ज्ञान, साहस प्रेरणा का स्रोत:100वीं पुण्यतिथि पर देश ने किया याद, पीएम मोदी ने भी दी श्रद्धांजलि Capture 2 580x330

महान स्वतंत्रता सेनानी लोकमान्य तिलक का ज्ञान, साहस प्रेरणा का स्रोत:100वीं पुण्यतिथि पर देश ने किया याद, पीएम मोदी ने भी दी श्रद्धांजलि

उप-राष्ट्रपति ने भी ट्वीट कर तिलक को श्रद्धांजलि अर्पित की. उन्होंने तिलक के योगदान को याद करते हुए लिखा कि वो भारतीय स्वाधीनता संग्राम के प्रमुख नेताओं में से थे.

महान स्वतंत्रता सेनानी लोकमान्य तिलक का ज्ञान, साहस प्रेरणा का स्रोत:100वीं पुण्यतिथि पर देश ने किया याद, पीएम मोदी ने भी दी श्रद्धांजलि Capture 2

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत के स्वतंत्रता संग्राम के नायकों में से एक बाल गंगाधर तिलक को उनकी 100वीं पुण्यतिथि पर शनिवार को श्रद्धांजलि दी और कहा कि उनका ज्ञान, साहस और ‘‘स्वराज’’ का विचार लोगों को प्रेरित करता है. पीएम मोदी के अलावा उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू, गृह मंत्री अमित शाह ने भी महान स्वतंत्रता सेनानी को याद किया.

‘तिलक का ज्ञान, साहस प्रेरणा का स्रोत

मोदी ने ‘मन की बात’ कार्यक्रम का एक छोटा वीडियो भी पोस्ट किया जिसमें उन्होंने ब्रिटिश राज के खिलाफ लोगों को एकजुट करने के तिलक के प्रयासों का जिक्र किया था.

मोदी ने ट्वीट किया, ‘‘भारत लोकमान्य तिलक को उनकी 100वीं पुण्यतिथि पर नमन करता है. उनका ज्ञान, साहस, न्याय की भावना और स्वराज का विचार प्रेरित करता है.’’

प्रधानमंत्री ने याद किया कि कैसे तिलक ने लोगों में आत्मविश्वास जगाया था और ‘‘स्वराज हमारा जन्मसिद्ध अधिकार है और मैं इसे लेकर रहूंगा’’ का नारा दिया था.

उप राष्ट्रपति और गृह मंत्री ने भी किया याद

उप राष्ट्रपति ने भी ट्वीट कर तिलक को श्रद्धांजलि अर्पित की. उन्होंने तिलक के योगदान को याद करते हुए लिखा कि वो भारतीय स्वाधीनता संग्राम के प्रमुख नेताओं में से थे.

वहीं  गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट कर लिखा, “लोकमान्य तिलक जी का अध्ययन असीमित था, उनके विचारों, कृतित्व और शोधों में उनके गहन चिंतन को साफ देखा जा सकता है. उनका मानना था कि जब देश गुलामी की बेड़ियों में जकड़ा हो तब भक्ति और मोक्ष नहीं कर्मयोग की जरूरत होती है. ऐसे वीर नायक की 100वीं पुण्यतिथि पर उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि.”

About Arun Kumar Singh

Check Also

भारी हंगामे के बीच राज्यसभा में कृषि बिल ध्वनि मत से पास,TMC सांसद ने फाड़ी रुल बुक Capture 47 310x165

भारी हंगामे के बीच राज्यसभा में कृषि बिल ध्वनि मत से पास,TMC सांसद ने फाड़ी रुल बुक

नई दिल्ली, एजेंसियां। संसद के मानसून सत्र की आज 7वां दिन है। कृषि से जुड़े तीन …

Leave a Reply

Copyright © 2017, All Right Reversed.