Friday , July 10 2020 [ 8:29 PM ]
Breaking News
Home / अन्य / विमान में यात्रा करने से पहले जान लें किस राज्य में क्वारंटीन के क्या हैं नियम?
विमान में यात्रा करने से पहले जान लें किस राज्य में क्वारंटीन के क्या हैं नियम? Capture 60

विमान में यात्रा करने से पहले जान लें किस राज्य में क्वारंटीन के क्या हैं नियम?

  • सोमवार से विमान सेवा शुरू
  • राज्यों में अलग-अलग हैं नियम
विमान में यात्रा करने से पहले जान लें किस राज्य में क्वारंटीन के क्या हैं नियम? Capture 60

दो महीने के लॉकडाउन के बाद सोमवार से विमान सेवा शुरू की गई है.

हालांकि कई राज्य इस सेवा को शुरू करने के लिए तैयार नहीं थे. 25 मई से आंध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल को छोड़कर पूरे देश में घरेलू विमान सेवा की शुरुआत हो गई है. घरेलू विमान सेवा की शुरुआत को लेकर नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने ट्वीट कर बताया, ‘देश में नागरिक विमानों की आवाजाही को शुरू करने के लिए विभिन्न राज्यों के साथ बातचीत का एक लंबा दिन रहा. आंध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल को छोड़कर सोमवार से पूरे देश में घरेलू उड़ानों की शुरुआत होगी.’

हालांकि एयरपोर्ट अथॉरिटी ने घरेलू उड़ानों के लिए काफी सारी तैयारी की है. कोरोना संक्रमण से बचने के लिए एयरपोर्ट पर दो मीटर की दूरी और टचलेस सिस्टम को फॉलो किया जा रहा है जिससे कि यात्रियों के बीच संक्रमण का खतरा कम हो. वहीं राज्य सरकारों की तरफ से भी हवाई यात्रा के संबंध में कुछ गाइडलाइंस जारी की गई हैं.

दिल्ली सरकार की गाइडलाइंस

दिल्ली सरकार की गाइडलाइंस के मुताबिक यात्रियों का क्वारनटीन रहना अनिवार्य नहीं होगा. बिना लक्षण वाले यात्रियों को अगले 14 दिनों तक अपने स्वास्थ्य को मॉनिटर करने की सलाह दी गई है. इस दौरान अगर उनमें कोई लक्षण नजर आता है तो उन्हें तुरंत डिस्ट्रिक्ट सर्विलांस ऑफिसर को सूचना देनी होगी. वहीं अगर किसी यात्री में कोरोना के लक्षण पाए जाते हैं तो उन्हें तुरंत अस्पताल ले जाया जाएगा. अगर शख्स पॉजिटिव पाया गया तो उनका इलाज होगा और यदि निगेटिव रहे तो उन्हें घर जाने की इजाजत होगी लेकिन उस केस में भी अगले 7 दिनों तक आइसोलेशन में रहना अनिवार्य होगा.

केरल में होना पड़ेगा क्वारनटीन

केरल ने हवाई सेवा को लेकर गाइडलाइन जारी करते हुए कहा है कि यात्रियों को covid19jagratha.kerala.nic.in पर रजिस्टर करना होगा. केरल पहुंचे यात्रियों को 14 दिनों तक क्वारनटीन रहना होगा. हालांकि यात्रियों की सुविधा के लिए तिरुवनंतपुरम से केरल परिवहन विभाग की बसें चलेंगी, जिससे कि लोग उसमें बैठकर दूसरे जिलों तक जा सकें.

लखनऊ में ये है नियम

फ्लाइट से सफर करने वाले यात्रियों को 14 दिन के लिए होम क्वारंटीन रहना होगा. अगर किसी यात्री को वापस लौटना है या यहां से कहीं और के लिए रवाना होना है तो उनके लिए क्वारनटीन अनिवार्य नहीं होगा. हालांकि उन्हें आगे की यात्रा की पूरी जानकारी देनी होगी.

पंजाब-हिमाचल में क्वारनटीन अनिवार्य

पंजाब सरकार ने स्पष्ट गाइडलाइन दिया है कि सभी यात्रियों को 14 दिन के लिए होम क्वारनटीन रहना ही होगा. फिर चाहे वो ट्रेन ये आ रहा हो, बस से या फिर हवाई जहाज से. वहीं हिमाचल प्रदेश में भी 14 दिन का क्वारनटीन का आदेश है.

बिहार में पेड क्वारनटीन पर रहना होगा

बिहार सरकार ने कहा है कि बिहार आने वाले यात्रियों को 14 दिनों के लिए पेड क्वारनटीन में रहना होगा. यानी वो सरकारी क्वारनटीन सेंटर में रहेंगे लेकिन उसका खर्च यात्री को उठाना होगा. यह भी कहा गया है कि घरेलू यात्रियों को होम क्वारनटीन में रखा जाएगा. जबकि अंतरराष्ट्रीय यात्रियों को सरकारी क्वारनटीन में रहना होगा. बिहार सरकार ने कहा है कि 34 फ्लाइट्स ऑपरेशनल रहेंगे. उनका बोर्डिंग पास ही परमिशन पास होगा.

उत्तराखंड

उत्तराखंड में विमान से उतरने वाले यात्रियों को 10 दिन के लिए सरकारी क्वारनटीन में रहना होगा. बाद में स्वास्थ्य अधिकारियों के परामर्श पर उन्हें होम क्वारनटीन के लिए भेजा जाएगा.

गोवा में यात्रियों को देना होगा शपथपत्र

गोवा सरकार ने गाइडलाइन जारी करते हुए कहा है कि प्रदेश आने वाले सभी यात्रियों को एयरपोर्ट पहुंचने पर एक शपथ पत्र देना होगा. अगर किसी यात्री में कोई लक्षण नजर आता है तो उसे टेस्ट और क्वारनटीन के लिए भेजा जाएगा. वहीं अगर किसी यात्री के अंदर कोई लक्षण नहीं दिखता है तो उसका स्वैब टेस्ट कराया जाएगा. जिसके लिए यात्री को 2000 रुपये देने होंगे. साथ ही रिपोर्ट आने तक सेल्फ आइसोलेशन में रहना होगा.

तमिलनाडु में 14 दिन का क्वारनटीन

तमिलनाडु आने वाले सभी यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग कराई जाएगी. एयरपोर्ट पर सभी यात्रियों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा. इसके लिए एयरपोर्ट पर भी खास इंतजाम किए गए हैं. यात्रियों के सामान को डिसइंफेक्ट (कीटाणुशोधन) किया जाएगा. एयरपोर्ट पर जो भी अधिकारी मौजूद होंगे उन्हें पीपीई किट में रहना होगा. वहीं राज्य में दाखिल होने वाले सभी व्यक्ति को 14 दिनों के लिए क्वारनटीन में रहना होगा.

कर्नाटक में क्या है नियम?

कर्नाटक सरकार ने राज्यों को ध्यान में रखते हुए गाइडलाइन तय की है. महाराष्ट्र, दिल्ली, राजस्थान, एमपी, गुजरात और तमिलनाडु ये आने वाले यात्रियों के लिए सात दिन का सरकारी क्वारनटीन अनिवार्य होगा. सात दिनों के बाद यात्रियों को होम क्वारनटीन में रहना होगा.

झारखंड में होम क्वारनटीन

झारखंड में 14 दिन के लिए होम क्वारनटीन में रहना अनिवार्य होगा

पश्चिम बंगाल

पश्चिम बंगाल में हालांकि अभी विमान सेवा शुरू नहीं हुई है. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अम्फान तूफान का हवाला देते हुए इसे 28 मई से शुरू करने की बात कही है. इससे पहले ममता सरकार की तरफ से गाइडलाइंस जारी करते हुए कहा गया है कि एयरपोर्ट पर यात्रियों को अपना चेहरा ढंकना अनिवार्य होगा. इसके अलावा हैंड हाइजीन और सोशल डिस्टेंसिंग जैसे नियमों का भी पालन करना होगा. हेल्थ स्क्रीनिंग किए बगैर किसी यात्री को बोर्डिंग की इजाजत नहीं दी जाएगी. एयरपोर्ट पर साथ आने वाले यात्रियों की भी स्क्रीनिंग होगी.

एयरपोर्ट आने वाले लोगों को सलाह दी जाएगी कि वे 14 दिनों तक अपने सेहत को मॉनिटर करें और अगर कोई लक्षण दिखाई दे तो तुरंत स्थानीय मेडिकल ऑफिसर या राज्य के कॉल सेंटर पर सूचना दें. अगर किसी यात्री में कोरोना के लक्षण नजर आता है तो उनका टेस्ट किया जाएगा. फ्लाइट लेने वाले सभी यात्रियों को अपने स्वास्थ्य से जुड़ी एक घोषणापत्र भी जमा करानी होगी. एयरपोर्ट का सैनिटाइजेशन लगातार किया जाएगा और जगह-जगह सैनिटाइजर रखे जाएंगे.

सभी यात्रियों की लैंडिंग के बाद थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी. बिना लक्षण वाले यात्री होम क्वारनटीन रहेंगे. वहीं जिन यात्रियों में लक्षण मिलते हैं उन्हें प्रोटोकॉल के हिसाब से आइसोलेशन में भेजा जाएगा.

About Arun Kumar Singh

Check Also

भदेठी: दलितों के घर जलाने वाले नहीं बख्शे जाएंगे -गिरीश चन्द यादव,भाजपा ने दिए राशन, कपड़े और जरूरत मन्द सामान Capture 9 310x165

भदेठी: दलितों के घर जलाने वाले नहीं बख्शे जाएंगे -गिरीश चन्द यादव,भाजपा ने दिए राशन, कपड़े और जरूरत मन्द सामान

जौनपुर के भादेथी गाव की आगजनी घटना पर पहुचे मंत्री गिरीश यादव साथ में है …

Leave a Reply

Copyright © 2017, All Right Reversed.